Monday, January 15, 2018

चाणक्य के अनमोल विचार - Chanakya (Kautilya) Motivational Quotes in Hindi

  Abhimanyu Bhardwaj       Monday, January 15, 2018
आचार्य चाणक्य ने महाराज चंद्रगुप्त को अखंड़ भारत का सम्राट बनने में सहायता करने बाद विशाल साम्राज्य की प्रजा के मार्गदर्शन के लिए एक नीतिशास्त्र की रचना की थी जिसे आज 'चाणक्य नीति' के नाम से जाना जाता है। आईये जानते हैं चाणक्य के अनमोल विचार - Chanakya (Kautilya) Motivational Quotes in Hindi

चाणक्य के अनमोल विचार - Chanakya (Kautilya) Motivational Quotes in Hindi

चाणक्य के अनमोल विचार - Chanakya (Kautilya) Motivational Quotes in Hindi

  1. शत्रु के गुण को भी ग्रहण करना चाहिए
  2. अपने स्थान पर बने रहने से ही मनुष्य पूजा जाता है
  3. सभी प्रकार के भय से बदनामी का भय सबसे बड़ा होता है
  4. किसी लक्ष्य की सिद्धि में कभी शत्रु का साथ न लें 
  5. आलसी का न वर्तमान होता है, न भविष्य
  6. सोने के साथ मिलकर चांदी भी सोने जैसी दिखाई पड़ती है अर्थात सत्संग का प्रभाव मनुष्य पर अवश्य पड़ता है
  7. ढेकुली नीचे सिर झुकाकर ही कुँए से जल निकालती है अर्थात कपटी या पापी व्यक्ति सदैव मधुर वचन बोलकर अपना काम निकालते है
  8. सत्य भी यदि अनुचित है तो उसे नहीं कहना चाहिए
  9. समय का ध्यान नहीं रखने वाला व्यक्ति अपने जीवन में निर्विघ्न नहीं रहता
  10. जो जिस कार्ये में कुशल हो उसे उसी कार्ये में लगना चाहिए
  11. ऋण, शत्रु और रोग को समाप्त कर देना चाहिए
  12. वन की अग्नि चन्दन की लकड़ी को भी जला देती है अर्थात दुष्ट व्यक्ति किसी का भी अहित कर सकते है
  13. शत्रु की दुर्बलता जानने तक उसे अपना मित्र बनाए रखें
  14. सिंह भूखा होने पर भी तिनका नहीं खाता
  15. एक ही देश के दो शत्रु परस्पर मित्र होते है
  16. आपातकाल में स्नेह करने वाला ही मित्र होता है
  17. मित्रों के संग्रह से बल प्राप्त होता है
  18. जो धैर्यवान नहीं है, उसका न वर्तमान है न भविष्य
  19. संकट में बुद्धि ही काम आती है
  20. लोहे को लोहे से ही काटना चाहिए
  21. यदि माता दुष्ट है तो उसे भी त्याग देना चाहिए
  22. यदि स्वयं के हाथ में विष फ़ैल रहा है तो उसे काट देना चाहिए
  23. सांप को दूध पिलाने से विष ही बढ़ता है, न की अमृत
  24. एक बिगड़ैल गाय सौ कुत्तों से ज्यादा श्रेष्ठ है अर्थात एक विपरीत स्वाभाव का परम हितैषी व्यक्ति, उन सौ लोगों से श्रेष्ठ है जो आपकी चापलूसी करते है
  25. कल के मोर से आज का कबूतर भला अर्थात संतोष सबसे बड़ा धन है
  26. आग सिर में स्थापित करने पर भी जलाती है अर्थात दुष्ट व्यक्ति का कितना भी सम्मान कर लें, वह सदा दुःख ही देता है
  27. अन्न के सिवाय कोई दूसरा धन नहीं है
  28. भूख के समान कोई दूसरा शत्रु नहीं है
  29. विद्या ही निर्धन का धन है
  30. विद्या को चोर भी नहीं चुरा सकता
famous quotes of chanakya in hindi, chanakya quotes in hindi, chanakya quotes on love, Best Chanakya Quotes In Hindi, Chanakya Quotes, Quotes By Arthashastra Guru Chanakya, best quotes of chanakya in hindi, chanakya neeti quotes in hindi, famous quotes in hindi language, chanakya quotes in hindi for success
logoblog

Thanks for reading चाणक्य के अनमोल विचार - Chanakya (Kautilya) Motivational Quotes in Hindi

Previous
« Prev Post

No comments:

Post a Comment